• Emerald/Panna Green 100% Natural Carat 4.20

    Sold By: Gems Stone

    “ज्योतिष और पन्ना रत्न के लाभ

    पन्ना बुध का रत्न है और बुध अच्छे फल देने वाला ग्रह है। इसलिए ज्योतिष में ऐसा माना जाता है कि पन्ना कोई भी पहने उसे लाभ अवश्य होता है। लेकिन कुंडली में निम्नप्रकार की स्थितियां होने पर इसे पहनना ज्यादा फलदायी होता है।

    पन्ना बुध का रत्न है और बुध मिथुन और कन्या राशि का स्वामी है। इसलिए मिथुन और कन्या लग्न की कुंडली में इसे पहनना बहुत लाभदायक होता है।

    यदि बुध कुंडली में छठे और आठवें भाव में हो तो भी पन्ना पहनना फायदा पहुंचाता है।

    बुध अगर कुंडली में मीन राशि में हो तो भी पन्ना पहनना अच्छा होता है। कुंडली में धनेष बुध नौवे स्थान में हो तो पन्ना पहनना लाभ देता है।

    सातवें भाव का स्वामी बुध दूसरे भाव में, नवें भाव का स्वामी बुध चौथे भाव में या भाग्येश बुध छठें भाव में हो तो पन्ना पहनकर बहुत लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

    बुध की महादशा और अंतरदशा में भी पन्ना पहनना अच्छा होता है।

    जन्म कुंडली में बुध श्रेष्ठ भाव में अर्थात 2,3,4,5,7,9,10 और 11 में से किसी का स्वामी हो और अपने से छठे भाव में हो तो भी पन्ना पहनना बहुत अच्छा होता है।

    अगर कुंडली में बुध मंगल, शनि, राहु अथवा केतु के साथ स्थित हो तो पन्ना पहनना चाहिए।

    अगर बुध पर शत्रु ग्रह की दृष्टि हो तो भी पन्ना पहनना चाहिए।

    व्यापार-वाणिज्य, गणित व एकाउंटेंसी संबंधी कार्य से जुड़े लोग पन्ना अवश्य धारण करें। इससे अच्छे फल प्राप्त होंगे।”

    Discount Upto: 47%
    3,499.006,599.00
  • Emerald/Panna 100% Natural 3.85 Carat

    Sold By: Gems Stone

    ज्योतिष और पन्ना रत्न के लाभ

    पन्ना बुध का रत्न है और बुध अच्छे फल देने वाला ग्रह है। इसलिए ज्योतिष में ऐसा माना जाता है कि पन्ना कोई भी पहने उसे लाभ अवश्य होता है। लेकिन कुंडली में निम्नप्रकार की स्थितियां होने पर इसे पहनना ज्यादा फलदायी होता है।

    पन्ना बुध का रत्न है और बुध मिथुन और कन्या राशि का स्वामी है। इसलिए मिथुन और कन्या लग्न की कुंडली में इसे पहनना बहुत लाभदायक होता है।

    यदि बुध कुंडली में छठे और आठवें भाव में हो तो भी पन्ना पहनना फायदा पहुंचाता है।

    बुध अगर कुंडली में मीन राशि में हो तो भी पन्ना पहनना अच्छा होता है। कुंडली में धनेष बुध नौवे स्थान में हो तो पन्ना पहनना लाभ देता है।

    सातवें भाव का स्वामी बुध दूसरे भाव में, नवें भाव का स्वामी बुध चौथे भाव में या भाग्येश बुध छठें भाव में हो तो पन्ना पहनकर बहुत लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

    बुध की महादशा और अंतरदशा में भी पन्ना पहनना अच्छा होता है।

    जन्म कुंडली में बुध श्रेष्ठ भाव में अर्थात 2,3,4,5,7,9,10 और 11 में से किसी का स्वामी हो और अपने से छठे भाव में हो तो भी पन्ना पहनना बहुत अच्छा होता है।

    अगर कुंडली में बुध मंगल, शनि, राहु अथवा केतु के साथ स्थित हो तो पन्ना पहनना चाहिए।

    अगर बुध पर शत्रु ग्रह की दृष्टि हो तो भी पन्ना पहनना चाहिए।

    व्यापार-वाणिज्य, गणित व एकाउंटेंसी संबंधी कार्य से जुड़े लोग पन्ना अवश्य धारण करें। इससे अच्छे फल प्राप्त होंगे।”

    Discount Upto: 53%
    3,499.007,499.00
    Sold By: Gems Stone

    Emerald/Panna 100% Natural 3.85 Carat

    3,499.007,499.00
  • vanikart.com

    Emerald/Panna 4.10 carat

    Sold By: Gems Stone

    “ज्योतिष और पन्ना रत्न के लाभ

    पन्ना बुध का रत्न है और बुध अच्छे फल देने वाला ग्रह है। इसलिए ज्योतिष में ऐसा माना जाता है कि पन्ना कोई भी पहने उसे लाभ अवश्य होता है। लेकिन कुंडली में निम्नप्रकार की स्थितियां होने पर इसे पहनना ज्यादा फलदायी होता है।

    पन्ना बुध का रत्न है और बुध मिथुन और कन्या राशि का स्वामी है। इसलिए मिथुन और कन्या लग्न की कुंडली में इसे पहनना बहुत लाभदायक होता है।

    यदि बुध कुंडली में छठे और आठवें भाव में हो तो भी पन्ना पहनना फायदा पहुंचाता है।

    बुध अगर कुंडली में मीन राशि में हो तो भी पन्ना पहनना अच्छा होता है। कुंडली में धनेष बुध नौवे स्थान में हो तो पन्ना पहनना लाभ देता है।

    सातवें भाव का स्वामी बुध दूसरे भाव में, नवें भाव का स्वामी बुध चौथे भाव में या भाग्येश बुध छठें भाव में हो तो पन्ना पहनकर बहुत लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

    बुध की महादशा और अंतरदशा में भी पन्ना पहनना अच्छा होता है।

    जन्म कुंडली में बुध श्रेष्ठ भाव में अर्थात 2,3,4,5,7,9,10 और 11 में से किसी का स्वामी हो और अपने से छठे भाव में हो तो भी पन्ना पहनना बहुत अच्छा होता है।

    अगर कुंडली में बुध मंगल, शनि, राहु अथवा केतु के साथ स्थित हो तो पन्ना पहनना चाहिए।

    अगर बुध पर शत्रु ग्रह की दृष्टि हो तो भी पन्ना पहनना चाहिए।

    व्यापार-वाणिज्य, गणित व एकाउंटेंसी संबंधी कार्य से जुड़े लोग पन्ना अवश्य धारण करें। इससे अच्छे फल प्राप्त होंगे।”

    Discount Upto: 47%
    3,499.006,580.00
    Sold By: Gems Stone

    Emerald/Panna 4.10 carat

    3,499.006,580.00
  • vanikart.com

    Emerald/Panna 4.10 carat

    Sold By: Gems Stone

    “ज्योतिष और पन्ना रत्न के लाभ

    पन्ना बुध का रत्न है और बुध अच्छे फल देने वाला ग्रह है। इसलिए ज्योतिष में ऐसा माना जाता है कि पन्ना कोई भी पहने उसे लाभ अवश्य होता है। लेकिन कुंडली में निम्नप्रकार की स्थितियां होने पर इसे पहनना ज्यादा फलदायी होता है।

    पन्ना बुध का रत्न है और बुध मिथुन और कन्या राशि का स्वामी है। इसलिए मिथुन और कन्या लग्न की कुंडली में इसे पहनना बहुत लाभदायक होता है।

    यदि बुध कुंडली में छठे और आठवें भाव में हो तो भी पन्ना पहनना फायदा पहुंचाता है।

    बुध अगर कुंडली में मीन राशि में हो तो भी पन्ना पहनना अच्छा होता है। कुंडली में धनेष बुध नौवे स्थान में हो तो पन्ना पहनना लाभ देता है।

    सातवें भाव का स्वामी बुध दूसरे भाव में, नवें भाव का स्वामी बुध चौथे भाव में या भाग्येश बुध छठें भाव में हो तो पन्ना पहनकर बहुत लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

    बुध की महादशा और अंतरदशा में भी पन्ना पहनना अच्छा होता है।

    जन्म कुंडली में बुध श्रेष्ठ भाव में अर्थात 2,3,4,5,7,9,10 और 11 में से किसी का स्वामी हो और अपने से छठे भाव में हो तो भी पन्ना पहनना बहुत अच्छा होता है।

    अगर कुंडली में बुध मंगल, शनि, राहु अथवा केतु के साथ स्थित हो तो पन्ना पहनना चाहिए।

    अगर बुध पर शत्रु ग्रह की दृष्टि हो तो भी पन्ना पहनना चाहिए।

    व्यापार-वाणिज्य, गणित व एकाउंटेंसी संबंधी कार्य से जुड़े लोग पन्ना अवश्य धारण करें। इससे अच्छे फल प्राप्त होंगे।”

    Discount Upto: 47%
    3,500.006,580.00
    Sold By: Gems Stone

    Emerald/Panna 4.10 carat

    3,500.006,580.00
  • vanikart.com

    Emerald/Panna 4.20 Carat

    Sold By: Gems Stone

    “ज्योतिष और पन्ना रत्न के लाभ

    पन्ना बुध का रत्न है और बुध अच्छे फल देने वाला ग्रह है। इसलिए ज्योतिष में ऐसा माना जाता है कि पन्ना कोई भी पहने उसे लाभ अवश्य होता है। लेकिन कुंडली में निम्नप्रकार की स्थितियां होने पर इसे पहनना ज्यादा फलदायी होता है।

    पन्ना बुध का रत्न है और बुध मिथुन और कन्या राशि का स्वामी है। इसलिए मिथुन और कन्या लग्न की कुंडली में इसे पहनना बहुत लाभदायक होता है।

    यदि बुध कुंडली में छठे और आठवें भाव में हो तो भी पन्ना पहनना फायदा पहुंचाता है।

    बुध अगर कुंडली में मीन राशि में हो तो भी पन्ना पहनना अच्छा होता है। कुंडली में धनेष बुध नौवे स्थान में हो तो पन्ना पहनना लाभ देता है।

    सातवें भाव का स्वामी बुध दूसरे भाव में, नवें भाव का स्वामी बुध चौथे भाव में या भाग्येश बुध छठें भाव में हो तो पन्ना पहनकर बहुत लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

    बुध की महादशा और अंतरदशा में भी पन्ना पहनना अच्छा होता है।

    जन्म कुंडली में बुध श्रेष्ठ भाव में अर्थात 2,3,4,5,7,9,10 और 11 में से किसी का स्वामी हो और अपने से छठे भाव में हो तो भी पन्ना पहनना बहुत अच्छा होता है।

    अगर कुंडली में बुध मंगल, शनि, राहु अथवा केतु के साथ स्थित हो तो पन्ना पहनना चाहिए।

    अगर बुध पर शत्रु ग्रह की दृष्टि हो तो भी पन्ना पहनना चाहिए।

    व्यापार-वाणिज्य, गणित व एकाउंटेंसी संबंधी कार्य से जुड़े लोग पन्ना अवश्य धारण करें। इससे अच्छे फल प्राप्त होंगे।”

    Discount Upto: 47%
    3,499.006,599.00
    Sold By: Gems Stone

    Emerald/Panna 4.20 Carat

    3,499.006,599.00
  • vanikart.com

    Emerald/Panna

    Sold By: Gems Stone

    “ज्योतिष और पन्ना रत्न के लाभ

    पन्ना बुध का रत्न है और बुध अच्छे फल देने वाला ग्रह है। इसलिए ज्योतिष में ऐसा माना जाता है कि पन्ना कोई भी पहने उसे लाभ अवश्य होता है। लेकिन कुंडली में निम्नप्रकार की स्थितियां होने पर इसे पहनना ज्यादा फलदायी होता है।

    पन्ना बुध का रत्न है और बुध मिथुन और कन्या राशि का स्वामी है। इसलिए मिथुन और कन्या लग्न की कुंडली में इसे पहनना बहुत लाभदायक होता है।

    यदि बुध कुंडली में छठे और आठवें भाव में हो तो भी पन्ना पहनना फायदा पहुंचाता है।

    बुध अगर कुंडली में मीन राशि में हो तो भी पन्ना पहनना अच्छा होता है। कुंडली में धनेष बुध नौवे स्थान में हो तो पन्ना पहनना लाभ देता है।

    सातवें भाव का स्वामी बुध दूसरे भाव में, नवें भाव का स्वामी बुध चौथे भाव में या भाग्येश बुध छठें भाव में हो तो पन्ना पहनकर बहुत लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

    बुध की महादशा और अंतरदशा में भी पन्ना पहनना अच्छा होता है।

    जन्म कुंडली में बुध श्रेष्ठ भाव में अर्थात 2,3,4,5,7,9,10 और 11 में से किसी का स्वामी हो और अपने से छठे भाव में हो तो भी पन्ना पहनना बहुत अच्छा होता है।

    अगर कुंडली में बुध मंगल, शनि, राहु अथवा केतु के साथ स्थित हो तो पन्ना पहनना चाहिए।

    अगर बुध पर शत्रु ग्रह की दृष्टि हो तो भी पन्ना पहनना चाहिए।

    व्यापार-वाणिज्य, गणित व एकाउंटेंसी संबंधी कार्य से जुड़े लोग पन्ना अवश्य धारण करें। इससे अच्छे फल प्राप्त होंगे।”

    Discount Upto: 32%
    5,990.008,800.00
    Sold By: Gems Stone

    Emerald/Panna

    5,990.008,800.00